नई पोस्ट करें

वर्ल्ड हॉकी लीग फाइनल्स : भारत ने जर्मनी को हराकर जीता ब्रॉन्ज मेडल

2022-09-30 00:30:35 459

वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलचश्मा लगाते-लगाते हो गए हैं परेशान तो आजमाएं ये घरेलू नुस्खा, जल्द बढ़ जाएगी आंखों की रोशनी******Highlightsखराब लाइफस्टाइल और खान-पान का असर स्किन, सेहत के साथ-साथ पर भी पड़ता है। बदलती लाइफस्टाइल में अधिक मोबाइल, लैपटॉप, कंप्यूटर जैसे गैजेट्स का इस्तेमाल करने की वजह से आंखों पर बुरा असर पड़ रहा है, जिसके कारण रोशनी कम होती जा रही है। इतना ही नहीं, लगातार स्क्रीन देखने के कारण रूखी आंखों की समस्या से भी गुजरना पड़ता है। इस समस्या से युवा ही नहीं बल्कि कम उम्र के लोग भी तेजी से शिकार हो रहे हैं।स्क्रीन टाइम बढ़ जाने के कारण धीरे-धीरे व्यक्ति को हर एक चीज धुंधली नजर आने लगती है। अगर आप भी इस समस्या से काफी परेशान हैं तो इस घरेलू नुस्खा को अपना सकते हैं। इससे आपको कुछ ही दिनों में फर्क नजर आ जाएगा।इस घरेलू नुस्खे को अपनाने के साथ-साथ हेल्दी डाइट लें। इसके साथ ही हर आधा घंटा में स्क्रीन से कुछ सेकंड के लिए नजर हटाएं। आप चाहे तो थोड़ा सा ब्रेक ले सकते हैं। इससे आपकी आंखों को काफी आराम मिलेगा।एक चम्मच सौंफ, दोबादाम और आधा चम्मच मिश्री को लेकर ग्राइंडर मेंडालकर पीस लें और रोजाना रात को सोने से पहले एक गिलास दूध में डालकर पिएं। इससे आपको लाभ मिलेगा।सौंफ में भरपूर मात्रा में विटामिन ए और एसेंशियल विटामिन पाया जाता है जो आंखों को हेल्दी रखने में मदद करता है। इसके साथ ही गर्मियों में इसका सेवन करने से आपका शरीर को ठंडक मिलती हैं और पाचन तंत्र ठीक ढंग से काम करता है।बादाम में विटामिन ई के अलावा जिंक आधा मात्रा में पाया जाता जो आपको हेल्दी रखने में मदद करता है। इतना नहीं बादाम का सेवन करने से आंखों से जुड़ी बीमारी एज रिलेटेड मैक्युलर डीजेनेरेशन भी दूर करने में मदद मिलती हैं और आंखों की रेटिना हमेशा हेल्दी रहती है।

वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलअफगानिस्तान में जाते-जाते ये 'क्रूर' काम करके गया अमेरिका, अपना साथ देने वालों को 'मारा', डॉक्यूमेंट्री में सामने आईं हैरान कर देने वाली बातें******Highlightsअमेरिकी सेना को अफरा तफरी में अफगानिस्तान छोड़े एक साल का वक्त हो गया है। उन्होंने इस देश को आतंकी और क्रूर तालिबानियों को सौप दिया था। लेकिन क्या आप ये बात जानते हैं कि अमेरिका ने इस दौरान अपने कई सैनिकों, सहयोगियों और आश्रितों को वहीं तालिबान से लड़ने के लिए छोड़ दिया था। इस मामले से जुड़ी एक नई डॉक्यूमेंट्री आई है। जिसमें हैरान करने वाले खुलासे हुए हैं। इसमें पता चला है कि अमेरिकी सेना के कर्नल ने अपने सहयोगियों को साथ नहीं लिया और उन्हें जबरन किलिंग जोन की तरफ धकेल दिया।इस फिल्म का नाम 'सेंड मी' है, जिसे निक पामिसियानो ने बनायाहै। इसमें स्पेशल ऑपरेशंस की स्वयंसेवी टीम के सदस्यों के बयान लिए गए हैं। इसमें बताया गया है कि एक अमेरिकी कर्नल ने पांच बसों के लोगों विमानों में चढ़ने नहीं दिया। कर्नल पर इन लोगों की हत्या का आरोप लगाया जा रहा है। ये अफगानिस्तान के वो लोग थे, जिन्हें काबुल छोड़ने की इजाजत मिल गई थी। डॉक्यूमेंट्री में एक जवान के हवाले से बताया गया है, 'वहां एक कर्नल था, जो सामने आया और ऐसा दिखाने लगा कि अनिवार्य रूप से वही ये फैसला करेगा कि कौन विमान में चढ़ सकता है और कौन नहीं।'इस बीच एमएमए सेनानी बने सॉलिडर टिम कैनेडी ने कहा, 'कर्नल ने सभी को बाहर करने को कहा। मुझे परवाह नहीं है कि वह कौन हैं, वो उन बसों में दोबारा सवार हो गए, जो वापस काबुल चली गईं।' कैनेडी 13 सदस्यीय समूह का हिस्सा थे, जिसे कई सहयोगियों को बचाने का काम सौंपा गया था। इन पांच बसों में सवार लोगों के पास वेरिफाई दस्तावेज थे। अमेरिकी सेना ने उनकी सावधानीपूर्वक तलाशी और जांच की थी और सभी 25 अगस्त, 2021 को लगभग 3 बजे अमेरिका के नियंत्रण वाले ब्लैक गेट पर पहुंचे थे। हालांकि, 82वें एयरबोर्न डिवीजन के टॉप रैंक के कर्नल ने उन्हें या उन्हें ले जाने वाली बसों को अंदर नहीं जाने दिया।कर्नल ने उन शरणार्थियों को भी अनुमति नहीं दी, जिनके पास अमेरिकी पासपोर्ट था, यह कहते हुए कि दस्तावेज जाली हो सकते हैं। बसों में मौजूद शरणार्थियों की जिंदगी बचाने की अंतिम कोशिश के रूप में उत्तरी कैरोलिना के सीनेटर थॉम टिलिस को फोन लगाया गया। उन्होंने सेना के जनरलों को हस्तक्षेप करने को कहा। लेकिन तब तक हवाई अड्डे के बाहर की स्थिति विकट हो चुकी थी। सबको वहीं पर छोड़ना पड़ा। उन्होंने शरणार्थियों को गनपॉइंट पर बस में दोबारा चढ़ने के लिए कहा। इन लोगों को वापस काबुल जाने के लिए जहां से गुजरना था, वहां रास्ते में तालिबानी मौजूद थे।पूर्व मरीन चाड रॉबीचॉक्स ने कहा, 'बसों को वापस मोड़ने का मतलब इन लोगों को अनिवार्य रूप से मारना, इनकी हत्या करना था। इनमें से कुछ बच्चे थे, महिलाएं थीं, कई लोग अमेरिकी थे, जिन्हें वापस तालिबानियों के पास भेज दिया गया।' अमेरिका ने 20 साल बाद अफगानिस्तान छोड़ा था और इस दौरान उसने तालिबान के साथ इस देश में लड़ाई लड़ी थी। लेकिन जब बीते साल 15 अगस्त को तालिबान ने देश पर कब्जा किया, तो अमेरिकी सैनिकों को यहां से अफरा तफरी में निकलना पड़ा। इस मिशन के साथ ही उन लोगों को बचाया जाना था, जो इन 20 सालों में अमेरिका के काम आए थे। लेकिन अमेरिका ने आखिरी समय में उनकी पीठ में छूरा भोंप दिया।तालिबान को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर कब्जा किए हुए एक साल हो गया है, जिसके बाद देश बुनियादी रूप से पूरी तरह बदल गया। इस मौके पर तालिबान लड़ाकों ने पैदल, साइकिलों और मोटर साइकिलों पर काबुल की सड़कों पर विजय परेड निकाली जिसमें कुछ ने राइफलें भी ले रखी थीं। एक छोटे समूह ने अमेरिका के पूर्व दूतावास के सामने से गुजरते हुए ‘इस्लाम जिंदाबाद’ और ‘अमेरिका मुर्दाबाद’ के नारे भी लगाए। अफगानिस्तान में एक साल में बहुत कुछ बदल गया है। आर्थिक मंदी के हालात में लाखों और अफगान नागरिक गरीबी की ओर जाने को मजबूर हुए हैं। इस बीच तालिबान नीत सरकार में कट्टरपंथियों का दबदबा बढ़ता दिख रहा है।सरकार ने लड़कियों और महिलाओं के लिए शिक्षा तथा रोजगार के अवसर मुहैया कराये जाने पर पाबंदियां लगा दी हैं जबकि शुरुआत में देश ने इसके विपरीत वादे किये थे। एक साल बाद भी लड़कियों को स्कूल नहीं जाने दिया जा रहा है और महिलाओं को सार्वजनिक स्थानों पर खुद को सिर से पांव तक ढककर जाना होता है। साल भर पहले हजारों अफगान नागरिक तालिबान के शासन से बचने के लिए देश छोड़ने के लिहाज से काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर पहुंचे थे। अमेरिका ने 20 साल की जंग के बाद अफगानिस्तान से अपनी सेना को वापस बुला लिया था और ऐसे हालात बने थे।इस मौके पर अफगानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति अशरफ गनी ने अपने देश छोड़ने के फैसले का बचाव करते हुए कहा कि वह विद्रोहियों के सामने समर्पण के अपमान से बचना चाहते थे। उन्होंने सीएनएन से बातचीत में कहा कि 15 अगस्त, 2021 की सुबह जब तालिबान काबुल तक पहुंच गया था, तो राष्ट्रपति भवन में वही बचे थे, क्योंकि उनके सारे सुरक्षाकर्मी गायब थे।वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलHindi Diwas 2019: अजय देवगन, रणदीप हुड्डा सहित इन बॉलीवुड सेलिब्रिटीज ने दी हिंदी दिवस की शुभकामनाएं******हिंदी के लोकप्रियता को बढ़ाने के लिए हर साल 14 सितंबर को मनाया जाता है। हिंदी 1965 में भारत में एक आधिकारिक भाषा बन गई थी। राज्य स्तर पर हिंदी बिहार, छत्तीसगढ़, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, झारखंड, मध्य प्रदेश, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में बोली जाती है। दुनिया भर में करीब 75 करोड़ लोग हिंदी भाषा बोलते हैं। हिंदी दिवस पर बॉलीवुड सेलिब्रिटीज ने भी देशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। अजय देवगन, रणदीप हुड्डा सहित कई सेलिब्रिटीज ने ट्वीट करके हिंदी दिवस की शुभकामनाएं दी हैं।रणदीप हुड्डा ने ट्वीट किया-बुरा जो देखन मैं चलया, बुरा ना मिलया कोय।जो दिल खोजा अपना, मुझसे बुरा ना कोय।। भाषा एक महान एकीकृत हो सकती है। #HindiDiwas को मनाने के लिए हमारे इंद्रधनुष राष्ट्र की समृद्धि और विविधता को भी अपनी महिमा में पहचानना है। और जानें देसी भाषाएं।अजय देवगन ने लिखा-हिंदी है हम, वतन है हिंदुस्तान हमारा #हिंदी_दिवस

वर्ल्ड हॉकी लीग फाइनल्स : भारत ने जर्मनी को हराकर जीता ब्रॉन्ज मेडल

वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलआजादी की लौ जलाने वाले मंगल पांडे को आज के दिन क्यों दी गई थी फांसी, जानिए******देश की आने वाली पीढ़ियां आजाद हवा में सांस ले सकें इसके लिए आजादी के जाने कितने परवानों ने हंसते हंसते अपनी जान कुर्बान कर दी। आठ अप्रैल का दिन इन्हीं को समर्पित है। 1857 में देश में पहली बार आजादी की मशाल रौशन करने वाले मंगल पांडे को आठ अप्रैल के दिन फांसी पर लटका दिया गया था।भारत में धधकती आजादी की आंच पूरी दुनिया तक पहुंचे इसलिए और बटुकेश्वर दत्त ने आठ अप्रैल को ही दिल्ली के सेंट्रल एसेंबली हॉल में बम फेंका था। कैलेंडर के हिसाब से कल आठ अप्रैल साल का 98वां दिन है और अब साल में 267 दिन बाकी बचे हैं।देश दुनिया में आठ अप्रैल को घटी कुछ प्रमुख घटनाएं इस प्रकार हैं।1857 : ब्रिटिश भारत की बैरकपुर रेजीमेंट के सिपाही मंगल पांडेय को फौजी अनुशासन भंग करने और हत्या करने के अपराध में फांसी पर चढ़ाया गया।1894 : भारत के राष्ट्रीय गीत बंदे मातरम् के रचयिता बंकिम चन्द्र चट्टोपाध्याय का कलकत्ता में निधन।1929 : क्रांतिकारी भगत सिंह और बटुकेश्‍वर दत्त ने दिल्ली असेंबली हॉल में बम फेंका और गिरफ्तारी दी। इस बम धमाके का मकसद किसी को नुकसान पहुंचाना नहीं बल्कि भारत के स्वतंत्रता आंदोलन की तरफ दुनिया का ध्यान आकृष्ट करना था।1950 : भारत और पाकिस्तान के बीच लियाकत-नेहरू समझौता किया।1973 : स्पेन के चित्रकार पाब्लो पिकासो का निधन।2013 : ब्रिटेन की पूर्व प्रधानमंत्री मार्गेरेट थैचर का निधन।जापान में यह दिन बुद्ध के जन्मदिन पर ‘पुष्प उत्सव’ के रूप में मनाया जाता है।वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलमनीष सिसोदिया की बढ़ी मुश्किलें, CBI के बाद अब ED ने दर्ज किया मनी लॉन्ड्रिंग का केस******Highlights दिल्ली के उप मुख्यमंत्री (Manish Sisodia) के खिलाफ CBI भी जांच करेगी और ED भी जांच करेगी। दिल्ली के शराब घोटाले में आज प्रवर्तन निदेशालय (ED) की एंट्री हुई। ED ने दिल्ली की एक्साइज पॉलिसी के सिलसिले में मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया है। ईडी की FIR के बाद मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी के चांस बढ़ गए हैं।मनीष सिसोदिया पिछले 2 दिनों से मुख्यमंत्री के साथ गुजरात में हैं। मोदी के गुजरात में केजरीवाल नया प्रयोग कर रहे हैं। गुजरात में इसी साल विधानसभा चुनाव है और केजरीवाल का दावा है कि मोदी के होमग्राउंड पर इस बार फुल झाड़ू चलेगा।वहीं, आपको बता दें कि इससे पहले बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी ने दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के आरोपों पर पलटवार किया था। बिधूड़ी ने कहा था कि ऐसे भ्रष्ट व्यक्ति को बीजेपी चिमटे से भी नहीं छुएगी। दरअसल मनीष सिसोदिया ने सोमवार को कहा था कि बीजेपी की तरफ से उन्हें पार्टी ज्वाइन करने का ऑफर आया है। सिसोदिया ने ट्वीट करते हुए कहा था कि मेरे पास भाजपा का संदेश आया है कि 'आप' तोड़कर भाजपा में आ जाओ, सारे CBI, ED के केस बंद करवा देंगे। मेरा भाजपा को जवाब है कि मैं महाराणा प्रताप का वंशज हूं, राजपूत हूं। सर कटा लूंगा लेकिन भ्रष्टाचारियों-षड्यंत्रकारियों के सामने झुकूंगा नहीं। मेरे खिलाफ सारे केस झूठे हैं। जो करना है कर लो।'बीजेपी सांसद रमेश बिधूड़ी ने कहा कि गलत बयान देकर आम आदमी पार्टी लोगों का ध्यान भटका रही है। कांग्रेस के भ्रष्टाचार से त्रस्त होकर आम आदमी पार्टी पर दिल्ली के लोगों ने विश्वास किया था लेकिन अब ये सब रो रहे हैं। कौन बीजेपी मे आ रहा है और कौन जा रहा है? इन सब पर ध्यान ना देकर आप जनता के सवालों का जवाब दें।वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलJammu Kashmir News: बांदीपोरा में प्रवासी मजदूर की हत्या में शामिल 3 उग्रवादी गिरफ्तार, पाकिस्तान से मिल रहे थे ऑर्डर******Highlightsजम्मू कश्मीर की बांदीपोरा पुलिस ने शनिवार को कहा कि उन्होंने उत्तरी कश्मीर के बांदीपोरा जिले के हाजिन के सदुनारा इलाके में तीन आतंकवादियों को गिरफ्तार कर प्रवासी मजदूर की हत्या के मामले को सुलझा लिया है। एसएसपी बांदीपोरा ने कहा कि इस साल अब तक 3 आतंकवादी मारे गए, 9 हाइब्रिड आतंकवादी गिरफ्तार किए गए जबकि छह ओजीडब्ल्यू मॉड्यूल का भंडाफोड़ हुआ है।बांदीपोरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मोहम्मद जाहिद ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि 11-12 अगस्त की मध्यरात्रि को बिहार के अमरेज मसूरी के रूप में पहचाने गए एक प्रवासी मजदूर की सदुनारा में कुछ अज्ञात आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। इसके बाद औपचारिक मामला दर्ज किया गया था और जांच आगे बढ़ाई गई।एसएसपी ने कहा कि जांच के दौरान अलग-अलग संदिग्धों को बुलाया गया और पूछताछ की गयी और तकनीकी सहायता भी प्रयोग में लायी गयी। उन्होंने कहा, "जांच में तीन स्थानीय उग्रवादियों के बारे में पता लगा। इनकी पहचान वसीम अकरम, यावर रेयाज और मुजमिल शेख के रूप में हुई है। ये तीनों सदुनारा के निवासी हैं और लश्कर के एक हैंडलर बाबर के संपर्क में थे, जो पाकिस्तान से ऑपरेट कर रहा है।"पुलिस अधिकारी ने बताया कि बाबर ने इन तीनों को भविष्य में बांदीपोरा में स्थानीय उग्रवाद को पुनर्जीवित करने के लिए इस तरह के और हमलों को अंजाम देने के लिए किसी भी गैर-स्थानीय मजदूर को मारने के लिए और उन्हें आतंकित करने का निर्देश दिया था। उन्होंने आगे कहा कि जांच के दौरान उनके द्वारा छुपाए गए एक मैगजीन के साथ एक पिस्तौल और चार जिंदा राउंड सहित अपराध के हथियार भी बरामद किए गए हैं।बांदीपोरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा, "अब तक बांदीपोरा पुलिस सुरक्षा बलों के साथ एक स्थानीय और विदेशी सहित तीन आतंकवादियों को खत्म करने में सफल रही है।" उन्होंने कहा कि अब तक नौ हाइब्रिड उग्रवादियों को भी गिरफ्तार किया गया है और जिले में छह ओजीडब्ल्यू मॉड्यूल का भी भंडाफोड़ किया गया है।

वर्ल्ड हॉकी लीग फाइनल्स : भारत ने जर्मनी को हराकर जीता ब्रॉन्ज मेडल

वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलFY2017-18 में ATM की संख्‍या 10,000 घटकर रह गई 2.07 लाख, RBI रिपोर्ट में हुआ खुलासा******Closed ATMवित्‍त वर्ष 2017-18 के दौरान देश में की संख्‍या 10,000 घटकर 2.07 लाख रह गई है। शुक्रवार को भारतीय रिजर्व बैंक ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट जारी की, जिसमें बताया गया है कि वित्‍त वर्ष 2016-17 के दौरान देश में 2.08 लाख एटीएम थे, जिनकी संख्‍या एक साल में 10,000 कम हुई है। इसकी वजह कुछ सरकारी बैंकों द्वारा अपनी शाखाओं को तर्कसंगत बनाना है। रिपोर्ट में बताया गया है कि ऑपरेशनल ऑन-साइट एटीएम की संख्‍या भी इस दौरान घटर 1.06 लाख रह गई, जो वित्‍त वर्ष 2016-17 में 1.09 लाख थी। ऑफ-साइट एटीएम की संख्‍या 98,545 से बढ़कर 1 लाख पर पहुंच गई है। आरबीआई ने ट्रेंड्स एंड प्रोग्रेस ऑफ बैंकिंग इन 2017-18 नामक रिपोर्ट में कहा है कि वित्‍त वर्ष 2017-18 में सरकारी बैंकों के एटीएम की संख्‍या घटकर 1.45 लाख रह गई, जो वित्‍त वर्ष 2016-17 में 1.48 लाख थी। हालांकि, प्राइवेट बैंकों ने अधिक एटीएम लगाए और उनकी संख्‍या वित्‍त वर्ष 2017-18 में बढ़कर 60,145 हो गई, जो वित्‍त वर्ष 2016-17 में 58,833 थी।अप्रैल 2018 से अगस्‍त 2018 के बीच एटीएम की संख्‍या और घटकर 2.04 लाख रह गई, इसकी एक मुख्‍य वजह भुगतान के इलेक्ट्रॉनिक साधनों का बढ़ता उपयोग भी है। इसी अवधि के दौरान पूरे देश में प्‍वांइट्स ऑफ सेल (पीओएस) टर्मिनल्‍स की संख्‍या में बहुत अधिक वृद्धि हुई है। व्‍हाइट लेबल एटीएम की वृद्धि भी हाल के वर्षों में बढ़ी है, वित्‍त वर्ष 2017-18 में ऐसे एटीएम की संख्‍या 15,000 से अधिक हो गई है। रिपोर्ट में कहा गया है कि प्री-पेड पेमेंट इंस्‍ट्रूमेंट्स में भी जोरदार वृद्धि दर्ज की गई है। 2013-14 में प्री-पेड पेमेंट इंस्‍ट्रूमेंट के जरिये लेनदेन 8100 करोड़ रुपए था, जो वित्‍त वर्ष 2017-18 में बढ़कर 1.42 लाख करोड़ रुपए पर पहुंच गया। वित्‍त वर्ष 2017-18 के दौरान यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के जरिये 1.09 लाख करोड़ रुपए मूल्‍य के 91.5 करोड़ लेनदेन किए गए।वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलIPL 2021 ने ​बदल दी इस खिलाड़ी की किस्मत, अब लगेगा बड़ा दांव******आईपीएल ने पिछले कुछ साल में कई खिलाड़ियों की किस्मत बदल कर रख दी है। छोटे शहरों से ​खिलाड़ी खेलने आते हैं, अच्छा प्रदर्शन करते हैं और उसके बाद केवल भारत में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया पर छा जाते हैं। ऐसा ही एक खिलाड़ी है, जिसका नाम है आवेश खान। आईपीएल 2021 में आवेश खान ने शानदार प्रदर्शन किया है। हालांकि उनकी टीम ने उन्हें रिटेन नहीं किया है और वे एक बार फिर मेगा ऑक्शन में जाएंगे और टीमें उन पर बोली लगाएंगी। देखना होगा कि आवेश खान किस टीम के साथ खेलते हुए नजर आते हैं और कैसा प्रदर्शन करते हैं।टीम इंडिया में शामिल होने का रास्ता आईपीएल से होकर जाता है, ये कोई नई बात नहीं है। अब आईपीएल में शानदार प्रदर्शन करने वाले आवेश खान को टीम इंडिया में मौका दिया गया है और कप्तान ने चाहा तो वे प्लेइंग इलेवन में शामिल भी हो सकते हैं। आईपीएल 2021 में आवेश खान ने कमाल का खेल दिखाया था। हालांकि उससे पहले से ही वे आईपीएल खेल रहे हैं, लेकिन उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं था, लेकिन इस बार तो उन्होंने सभी का ध्यान अपनी ओर आकर्षित किया है। इसका कारण ये भी था कि उन्हें ज्यादा मैच खेलने का भी मौका नहीं मिल पा रहा था। आईपीएल 2020 में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेल रहे आवेश खान को केवल ही मैच खेलने के लिए मिला। इस मैच में वे कोई विकेट नही ले सके। साल 2019 में भी एक मैच खेले और विकेट नहीं ले पाए। साल 2018 में जरूर उन्होंने छह मैच खेले और चार विकेट चटकाए। साल 2017 में वे आरसीबी के लिए खेल रहे थे और एक मैच में एक विकेट अपने नाम किया।आवेश खान के इस प्रदर्शन को नोटिस नहीं किया गया और वे कहीं गुमनामी में रहे। इन सब सालों के बाद आया 2021 और वे ​दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेलते हुए दिखाई दिए। इस बार आवेश खान ने जबरदस्त कहर बरपाया। रिषभ पंत की कप्तानी वाली दिल्ली कैपिटल्स ने उन्हें मौका दिया और इसका उन्होंने जमकर फायदा भी उठाया। आवेश खान को इस बार कुल 16 मैच खेलने के लिए मिले और उन्होंने 24 ​विकेट अपने नाम किए। आईपीएल 2021 में हर्षल पटेल ने सबसे ज्यादा 32 विकेट लिए थे और उसके बाद आवेश खान का ही नाम है। जिस टूर्नामेंट में दुनियाभर के दिग्गज गेंदबाज खेल रहे हों, वहां पर सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में दूसरे नंबर पर आना कोई आसान नहीं होता, लेकिन आवेश खान ने इसे कर दिखाया। इतने अच्छे प्रदर्शन के बाद भी दिल्ली कैपिटल्स ने उन्हें रिटेन नहीं किया और अब वे बड़ी नीलामी में नजर आएंगे। देखना होगा कि वे इस साल किस टीम के लिए खेलकर अपना जलवा बिखेरते हैं।

वर्ल्ड हॉकी लीग फाइनल्स : भारत ने जर्मनी को हराकर जीता ब्रॉन्ज मेडल

वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलBCCI Ethics Officer: बीसीसीआई में हुआ बड़ा बदलाव, उच्चतम न्यायालय के जज विनीत सरन बने नए लोकपाल और आचरण अधिकारी****** भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) का नया आचरण अधिकारी और लोकपाल नियुक्त कर दिया गया है। न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) डी के जैन का कार्यकाल पिछले साल जून में खत्म होने के बाद ये दोनों पद पिछले एक साल से रिक्त थे। ऐसे में उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश विनीत सरन को दोनों पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है।सरन ने न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) डी के जैन का स्थान लिया है। सरन ओडिशा उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रहे हैं। उन्होंने कर्नाटक और इलाहाबाद उच्च न्यायालय में न्यायाधीश के रूप में भी काम किया है।बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि माननीय न्यायमूर्ति सरन की नियुक्ति पिछले महीने हुई है। सरन से जब संपर्क किया गया तो 65 साल के इस पूर्व न्यायाधीश ने खुद को क्रिकेट का प्रशंसक करार देते हुए कहा कि मैंने पिछले महीने कार्यभार संभाला है, लेकिन अभी तक कोई आदेश पारित नहीं किया है।बोर्ड से जुड़ी एक अन्य खबर में इंडियन प्रीमियर लीग में मीडिया अधिकारों से रिकॉर्डतोड़ कमाई करने के बाद बीसीसीआई घरेलू मैचों की मीडिया अधिकारों को लेकर चर्चा करेगी। बीसीसीआई की शीर्ष समिति की आगामी बैठक में घरेलू मैचों (2023 से आगे) के मीडिया अधिकारों को लेकर चर्चा होगी।कोरोना वायरस महामारी के कारण पिछले दो साल में बोर्ड की ज्यादातर बैठक ऑनलाइन हुई है लेकिन मुंबई में होने वाली इस बैठक में सभी सदस्यों के मौजूद रहने की उम्मीद है। बैठक के लिए तय 12 सूत्रीय एजेंडे में '2022-2023 के घरेलू सत्र को लेकर जानकारी, अंपायरों का वर्गीकरण और भारत में खेले जाने वाले क्रिकेट मैचों के लिए मीडिया अधिकार' शामिल हैं।बीसीसीआई की मेजबानी वाली मैचों का मौजूदा अधिकार स्टार इंडिया के पास है जिसने 2018-23 चक्र के लिए 6138.1 करोड़ रुपये दिये थे। आईपीएल मीडिया अधिकारों के लिए हालांकि 48390 करोड़ रुपये की बोली लगने के बाद इस रकम का काफी अधिक होना लगभग तय है। बोर्ड के एक अधिकारी ने कहा कि मीडिया अधिकारों के साथ-साथ आगामी घरेलू सत्र पर भी चर्चा की जाएगी।गौरतलब है कि कोरोना वायरस के कारण 2021 सत्र में पहली बार रणजी ट्रॉफी का आयोजन नहीं हो सका था और इस साल इसे मैचों की कम संख्या के साथ आयोजित किया गया। बायो-बबल (जैव- सुरक्षा माहौल) के बिना खेलों का आयोजन होने के बाद अब बीसीसीआई के पास पूर्ण घरेलू सत्र आयोजित करने का विकल्प होगा। बीसीसीआई इसमें पिछले महीने की घोषणा के बाद पूर्व क्रिकेटरों की पेंशन में वृद्धि की भी पुष्टि करेगा।

वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलबैंकों को कई बीमा कंपनियों में 10 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी रखने की अनुमति देने पर विचार******Irdai बीमा नियामक इरडा सार्वजनिक क्षेत्र के 10 बैंकों विलय के साथ उन्हें एक से अधिक बीमा कंपनियों में 10 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी रखने की अनुमति देने पर विचार कर रहा है। लेकिन यह प्रबंधन नियंत्रण की सीमा एक इकाई तक सीमित रहेगी। उद्योग मंडल एसोचैम के एक कार्यक्रम में के चेयरमैन एस सी खुंटिया ने कहा, 'हम सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों को एक से अधिक बीमा कंपनियों में 10 प्रतिशत से अधिक हिस्सेदारी देने की अनुमति देने पर विचार कर रहे हैं। लेकिन प्रबंधन स्तर पर निंयत्रण उनमें से केवल एक में होगा।' नियामक यह भी चाहता है कि ऐसे विभिन्न मालिकाना हक बीमा उद्योग के केवल एक खंड तक ही सीमित हो। वह जीवन बीमा या फिर साधारण बीमा में हो। साथ ही नियम बैंक को एक ही खंड में एक से अधिक बीमा कंपनी को बढ़ावा देने की अनुमति नहीं दे।उल्लेखनीय है कि 10 का चार बैंकों में विलय हुआ है। ये बीमा इकाइयों के प्रवर्तक भी हैं। उदाहरण के लिये पीएनबी, यूनियन बैंक, आंध्रा बैंक, केनरा बैंक और ओबी जीवन बीमा अनुषंगियों का परिचालन कर रहे हैं। सरकार ने अगस्त में 10 बैंकों के चार बैंकों में को मंजूरी दी।वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलAaj Ka Rashifal 22 September 2022: इन 3 राशियों की चमकेगी किस्मत, इन 2 राशियों की बिगड़ेगी दशा****** आज आश्विन कृष्ण पक्ष की द्वादशी तिथि और गुरूवार का दिन है। द्वादशी तिथि आज का पूरा दिन पार कर के देर रात 1 बजकर 17 मिनट तक रहेगी। आज द्वादशी तिथि वालों का श्राद्ध है। यानि जिनका स्वर्गवास किसी भी महीने के कृष्ण या शुक्ल पक्ष की द्वादशी को हुआ हो, उनका श्राद्ध आज किया जायेगा। साथ ही जिन लोगों ने स्वर्गवास से पहले सन्यास ले रखा हो, उन लोगों का श्राद्ध भी आज ही किया जायेगा। कहते हैं इस दिन श्राद्ध करने वाले के घर में कभी भी अन्न की कमी नहीं होती।आपका दिन उत्साह से भरा रहने वाला है। बिजनेस पार्टनर के साथ किए गए कामों से आज आपको फायदा होगा, बिजनेस को आगे बढाने की सोचेंगे। आपका सोचा हुआ काम आज पूरा हो जायेगा। अगर आप कार के शौकीन हैं तो मार्केट में लांच न्यू कार खरीद सकते हैं। साथ ही खुले मन से काम करने पर अच्छे लोग आपसे जुड़ने की कोशिश करेंगे। इस राशि के प्रॉपर्टी डीलर्स के लिये भी आज का दिन बेहतर रहेगा। किसी की छोटी मोती गलतियों को माफ़ कर देंगे, शाम को अपने दोस्तों के साथ घूमने जाने का प्लान बनायेंगे,जहाँ मस्ती से भरा माहौल रहेगा। सोसाइटी मे आपको मान-सम्मान मिलेगा।आपका दिन लाभदायक रहने वाला है। आज मेहनत का परिणाम आपके फेवर में होगा। आज खुद पर ध्यान देंगे। आज किसी काम में अपनों की मदद मिलेगी जिससे काम आसान हो जायेगा। आज जीवनसाथी के साथ कहीं घूमने का प्लान बना सकते हैं , आपके रिश्तें में मजबूती आएगी। समाज में आपके सराहनीय काम का सम्मान किया जा सकता है, अपने आप पर प्राउड फील होगा। किसी काम में आपका कॉन्फिडेंस आपको सक्सेस दिला सकता है। शाम का समय आप अपने परिवार के साथ बिताएंगे, मस्ती का माहौल बना रहेगा।आपके दिन की शुरुआत आपके अनुकूल होने वाली है। आज आप वर्किंग प्लेस पर खूब मेहनत करेंगे अपनी उपलब्धियों पर गर्व महसूस होगा। आज आपको कई जिम्मेदारियां मिल सकती है, जिन्हें आप अच्छी तरह से निभायेंगे। इस राशि के मनोरंजन उद्योग से जुड़े लोगों के लिए आज का दिन फायदेमंद होगा। आपकी क्रिएटिव फील्ड मजबूत होगी, आप नयी योजना को सफल बनाने के लिए नई तकनीकों का सहारा लेंगे, काम आसान व जल्दी हो जायेगा। आपका स्वास्थ्य बेहतर रहेगा, घर के बड़े बुजुर्गों का ख़ास ख्याल रखें।आपका दिन बहुत बढ़िया रहने वाला हैं। आपको किसी मल्टीनेशनल कंपनी से जॉब का ऑफर आ सकता है, जिससे आप कॉन्फिडेंस फील करेंगे। किसी जरुरी काम पर आज विचार करने का पूरा मौका मिलेगा समय का पूरा सदुपयोग करें। शिक्षकों का दिन बेहतर होगा, बच्चों को कुछ नया सीखाएंगे। आज दूसरों को जितना ज्यादा महत्व देंगे, आपको भी उतना ही महत्व मिलेगा। आज आप कोई रचनात्मक कार्य कर सकते हैं। माईग्रेन की समस्या से आज आपको काफी राहत मिलेगी, फालतू की बातों पर ध्यान न दें।आपका दिन जीवन में एक नई दिशा लेकर आयेगा। आज कोई इम्पोर्टेन्ट काम सहयोगियों की मदद से पूरा हो जायेगा। आज आप किसी बात को लेकर नेतृत्व कर सकते हैं। साथ ही किसी इम्पोर्टेंट टॉपिक पर बातचीत भी हो सकती है। इस राशि के जो लोग किसी दूसरे राज्य में व्यापार की शुरुआत करना चाहते है आज का दिन उनके लिए अच्छा हैं, परिवारवालों का पूरा सपोर्ट मिलेगा। आपको कुछ नया सीखने को मिलेगा। आज आपके विचारों को महत्व मिलेगा, लोग आपकी बातों से प्रभावित होंगे।आपके दिन की शुरुआत अच्छी होने वाली है। आज अधिकारी वर्ग का सहयोग पाने में आसानी होगी, बिगड़ते काम बनेंगे। बच्चों के प्रति आपका प्रेम आपको उनका प्रिय बना देगा। आज आप अपनी गलतियों से कुछ सीखेगे। आप किसी की बायोग्राफी पढ़ सकते हैं। आज आप अपने बच्चों के साथ पैरेंट मीटिंग में जा सकते हैं। आज आप गौ सेवा करने के लिए गौशाला जा सकते हैं। आज आप कुछ क्रिएटिव वर्क कर सकते हैं। इस राशि के जो लोग राइटिंग में अपना भाग्य अजमाना चाहते हैं वो लोग पहले टॉपिक की रूपरेखा तैयार कर लें, काम में सफलता अवश्य मिलेगी।आपका दिन खुशियों से भरा रहने वाला है। आज किसी धार्मिक स्थल पर जा सकते हैं। हर काम को धैर्य और समझदारी से पूरा करने की कोशिश कर सकते हैं। आज किसी से मदद मांगने में संकोच न करें, सब आपके फेवर में है। आज आप किसी योजना की शुरुआत कर सकते हैं। संभव हो तो काम शाम होने से पहले ही संपन्न कर लें। आज पूरी मेहनत से काम करेंगे तो सोचे हुए ज्यादातर काम पूरे हो सकते हैं। आपका अच्छा स्वास्थ्य आपके काम करने की क्षमता को बढ़ाएगा। आर्गेनिक फ़ूड का काम करने कर रहे लोगों को ज्यादा से ज्यादा लाभ होगा।आपके दिन की शुरुआत अच्छे मूड के साथ होने वाली है। आपकी आर्थिक स्थिति बेहतर रहेगी। आज पैसों के मामले में उन्नति के नये रास्ते खुलेंगे। आज आप उन चीजों को ज्यादा महत्व दे जो आपके लिए ज्यादा महत्तवपूर्ण है। साथ ही आपको अपने काम, परिवार, और दोस्तों के बीच संतुलन बना कर रखना चाहिए। इस राशि के स्टूडेंट्स के लिए आज का दिन बेहतर है, कम्प्यूटर से रिलेटेड कोर्स ज्वॉइन करेंगे। आप कोई भी पसंदीदा काम करेंगे। आज आपको फालतू की बातों से बचकर रहना चाहिए ताकि आप विवाद से बचे रहें।आज आप अपने दिन की शुरुआत शांत मन से करेंगे। पुराने लेन-देन के मामलों में गड़बड़ी होने से आज टेंशन थोड़ी बढ़ सकती है, इससे निजात पाने के लिये जीवनसाथी का सहयोग लें। आज आपके घर ख़ास रिश्तेदार आ सकते हैं जिनसे मिलकर आपको अच्छा लगेगा। आज आपको सरकारी क्षेत्र से लाभ होने की संभावना हैं। किसी मल्टीनेशनल कंपनी से जॉब के लिए कॉल आयेगी। आज फालतू विवादों से दूर रहने की कोशिश करें। इस राशि की माताएं अपने बच्चे के सुनहरे भविष्य के लिए कुछ ठोस कदम उठाएंगी।आपका दिन आपके परिवार के लिए नई खुशियाँ लाने वाला है। आज जरुरी काम से आपकी लम्बी यात्रा हो सकती है। संतान की सफलता आपको खुश करेगी। आज घर पर छोटी पार्टी का आयोजन कर सकते हैं। नये काम करने की सोच से आपको धन लाभ के अवसर मिलेंगे। आर्थिक स्थिति सामान्य रहेगी। इस राशि की जो महिलाएं बिजनेस फ़ील्ड से जुड़ी हैं उनके लिए आज का दिन लाभदायक है। अपने बिजी शेड्यूल से थोड़ा समय बच्चों के लिए निकालें और उनसे स्टडी के बारे में जानकारी लें।आप का दिन नई उमंगो के साथ शुरू होने वाला है। इस राशि के जो लोग बेकरी बिजनेस के क्षेत्र से जुड़े हैं, उन्हें आज उम्मीद से ज्यादा लाभ होगा, जिससे आर्थिक स्थिति बेहतर रहेगी। कला व साहित्य के लोगों के लिए भी आज का दिन बढ़िया रहेगा। इस राशि के स्टूडेंट्स अपने करियर को लेकर चिंतित होंगे। बेहतर हैं अपने गुरु से परामर्श लें। आपको अपना हुनर दिखाने के लिए सुनहरे अवसर प्राप्त होंगे। अगर आप कोई नया बिजनेस स्टार्ट करना चाहते हैं तो अपने बजट को ध्यान में रखकर काम करें। आज घर में रिश्तेदारों के आगमन से आपको अपने शेड्यूल में कुछ बदलाव करने पड़ सकते हैं।आपका दिन मिला-जुला रहेगा। आज किसी पुराने दोस्त से मिलने उसके घर जा सकते हैं। आज यात्रा करने से बचने की कोशिश करें। आपको थकान और तनाव महसूस हो सकता है, एनर्जेटिक फ़ूड खाएं तो राहत मिलेगी। आज बच्चों के साथ टाइम स्पेंड कर सकते हैं , बच्चे अपनी कुछ पर्सनल बातें शेयर करेंगे। प्राइवेट शिक्षकों का दिन राहत भरा होगा , बच्चों को नया सिखाने की कोशिश करेंगे। अगर जीवनसाथी के साथ अनबन चल रही है तो आज इसे सुलझाने के लिए दिन अच्छा हैं। ग्राफिक डीजाइनिंग के स्टूडेंट आज कुछ क्रिएटिव कर सकते हैं।(आचार्य इंदु प्रकाश देश के जाने-माने ज्योतिषी हैं, जिन्हें वास्तु, सामुद्रिक शास्त्र और ज्योतिष शास्त्र का लंबा अनुभव है। इंडिया टीवी पर आप इन्हें हर सुबह 7.30 बजे भविष्यवाणी में देखते हैं)

वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलCases Pending in Court: अदालतों में करीब 5 करोड़ मामले हैं लंबित, जानिए क्यों कहा कानून मंत्री ने की आम आदमी की पहुंच से बाहर हैं अच्छे वकील******Highlights कानून एवं न्याय मंत्री किरेन रिजिजू ने शनिवार को कहा कि देश की अदालतों में करीब 5 करोड़ मामले लंबित हैं और इस सिलिसले में कोई कदम नहीं उठाया गया तो यह संख्या और बढ़ जाएगी। औरंगाबाद में महाराष्ट्र नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (MNLU) के पहले दीक्षांत समारोह में मंत्री ने आम लोगों को वकीलों की सेवा अफोर्डेबल रेट पर नहीं मिलने के बारे में भी चिंता व्यक्त की।उन्होंने कहा, "इंडियन ज्यूडिशरी की क्वालिटी दुनिया भर में फेमस है। दो दिन पहले मैं लंदन में था, जहां मैं ज्यूडिशरी से जुड़े लोगों से मिला। वे सभी भारतीय न्यायपालिका के लिए इसी तरह के विचार और बेहद सम्मान रखते हैं। सुप्रीम कोर्ट के निर्णय का अक्सर ब्रिटेन में रेफरेंस दिया जाता है।"देश में लंबित मामलों पर चिंता व्यक्त करते हुए रीजिजू ने कहा, "जब मैंने कानून मंत्री के रूप में पदभार संभाला था तब 4 करोड़ से कुछ कम मामले लंबित थे। आज यह 5 करोड़ के करीब है। यह हम सबके लिए बहुत चिंता का विषय है।" कानून मंत्री ने कहा कि यह स्थिति न्याय प्रदान करने में किसी कमी या सरकार से समर्थन की कमी के कारण नहीं आई है, बल्कि यदि कुछ ठोस कदम नहीं उठाए गए तो लंबित मामलों में बढ़ोतरी होना तय है।रीजिजू ने आगे कहा, "ब्रिटेन मेंएकन्यायाधीश एक दिन में अधिकतम 3 से 4 मामलों में निर्णय देते हैं। लेकिन, भारतीय अदालतों में एक न्यायाधीश औसतन प्रतिदिन 40 से 50 मामलों की सुनवाई करते हैं। अब मुझे एहसास हुआ कि वे ज्यादा समय बैठते हैं। लोग गुणवत्तापूर्ण फैसले की उम्मीद करते हैं। न्यायाधीश भी इंसान होते हैं।"मीडिया में न्यायाधीशों के बारे में की जाने वाली टिप्पणियों का जिक्र करते हुए मंत्री ने कहा, "कभी-कभी, मैं न्यायाधीशों के बारे में सोशल मीडिया और प्रिंट मीडिया में टिप्पणियां देखता हूं। यदि आप गौर करें कि एक न्यायाधीश को कितना काम करना होता है, तो यह अन्य सभी के लिए अकल्पनीय है। सोशल मीडिया के युग में मुद्दे की गहराई में जाए बिना हर किसी की अपनी राय होती है। लोग तुरंत निष्कर्ष पर पहुंच जाते हैं और जजों पर व्यक्तिगत टीका-टिप्पणी करते हैं।"रीजिजू ने वकीलों द्वारा ली जाने वाली फीस पर भी चिंता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि गरीब लोगों को अच्छे वकील की सेवा लेना मुश्किल होता है और यह किसी को न्याय से वंचित करने का कारण नहीं होना चाहिए। रीजिजू ने कहा, "मैं दिल्ली में ऐसे कई वकीलों को जानता हूं, जो आम आदमी की पहुंच से बाहर हैं। सिर्फ इसलिए कि किसी के पास सिस्टम तक बेहतर पहुंच है, उसकी फीस अधिक नहीं होनी चाहिए। सभी के लिए समान अवसर होना चाहिए।" मंत्री ने कहा कि संसद के आगामी मानसून सत्र में कुछ बदलावों के साथ एक मध्यस्थता विधेयक पारित कराया जाएगा और यह नए वकीलों के लिए अधिक अवसर लाएगा।वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलCoronavirus: दिल्ली के हालात पर बोले केजरीवाल, "लॉकडाउन लागू करने की फिलहाल कोई योजना नहीं"******Highlightsदिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को कहा है कि लॉकडाउन लागू करने की फिलहाल कोई योजना नहीं है। और यदि लोग मास्क पहने के नियम का पालन करते हैं, तो लॉकडाउन नहीं लगाया जाएगा।ने कहा है कि दिल्ली में रविवार को 24 घंटे में कोविड-19 के 22 हजार मामले दर्ज होने की आशंका है। उन्होंने लोगों से मास्क पहनने की अपील की।केजरीवाल ने डिजिटल संवाददाता सम्मेलन में कहा, ''कोविड-19 मामलों का बढ़ना चिंता की बात है, लेकिन घबराने की कोई जरूरत नहीं है। बहुत कम लोग अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं। मास्क पहनना बहुत महत्वपूर्ण है। यदि आप मास्क पहनना जारी रखेंगे, तो लॉकडाउन नहीं लगेगा। फिलहाल लॉकडाउन लागू करने की कोई योजना नहीं है।''मुख्यमंत्री ने कहा कि वो उपराज्यपाल अनिल बैजल और केंद्र के साथ मिलकर कोविड की स्थिति पर नजर रख रहे हैं। केजरीवाल ने कहा, ''हमारा प्रयास न्यूनतम पाबंदियां लगाने का है ताकि आजीविका प्रभावित न हो।''इनपुट- भाषा

वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलइस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों को लगातार ठिकाने लगा रही है इराकी सेना, हवाई हमले में 11 आतंकी ढेर******Highlightsपश्चिमी और पूर्वी इराक में शनिवार को किए गए हवाई हमले में इस्लामिक स्टेट (IS) के 11 आतंकवादी मारे गए। इराकी सेना ने यह जानकारी देते हुए बताया कि इस हवाई हमले में आईएस के काफी नुकसान हुआ है। इराकी ज्वाइंट ऑपरेशंस कमांड (जेओसी) ने एक मीडिया विज्ञप्ति में कहा कि पश्चिमी इराक के अनबर प्रांत के अल-जल्लैयात इलाके में किए गए हवाई हमले में एक स्थानीय नेता सहित सात आतंकवादी मारे गए और एक ठिकाना नष्ट हो गया।समाचार एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, जेओसी ने एक अलग बयान में कहा कि इराक के पूर्वी प्रांत दियाला में इराकी विमान ने खुफिया रिपोर्टों पर कार्रवाई की और हिमरीन झील के तट पर आईएस के ठिकाने पर दो हवाई हमले किए, जिसमें आतंकवादी मारे गए। आतंकियों के ठिकाने की तलाशी लेने वाले सशस्त्र बलों के साथ टकराव में आईएस का एक अन्य आतंकवादी मारा गया। सैनिकों ने तीन मोटरसाइकिलों, विस्फोटक उपकरणों और विस्फोटकों से भरे बैरल को भी नष्ट कर दिया।इराकी सुरक्षा बलों ने पिछले कुछ महीनों में चरमपंथी उग्रवादियों की तीव्र गतिविधियों पर कार्रवाई की है। 2017 में आईएस की हार के बाद से इराक में सुरक्षा की स्थिति में सुधार हो रहा है। हालांकि, इसके अवशेष तब से शहरी केंद्रों, रेगिस्तानों और बीहड़ क्षेत्रों में पिघल गए हैं, सुरक्षा बलों और नागरिकों के खिलाफ लगातार छापामार हमले कर रहे हैं।इससे पहले उत्तरी सीरिया में सेना की एक बस पर हुए हमले में 11 सैनिकों समेत 13 लोगों की मौत हो गई थी, जबकि तीन सैनिक घायल हो गए थे। सीरिया की सरकारी मीडिया ने एक अज्ञात सैन्य अधिकारी के हवाले से इसकी जानकारी दी थी। सरकारी समाचार एजेंसी साना के मुताबिक, यह हमला रक्का प्रांत में हुआ, जो कभी आतंकी संगठन ‘इस्लामिक स्टेट’ (आईएस) के कब्जे में था। हालांकि, खबर में यह नहीं बताया गया है कि बस पर घात लगाकर मशीन गन से गोलीबारी की गई या फिर इसे किसी मिसाइल या सड़क किनारे रखे बम से निशाना बनाया गया। आईएस के आतंकवादियों ने पिछले कुछ महीनों में इस तरह के कई हमले किए हैं, जिसमें दर्जनों लोगों ने जान गंवाई है या घायल हुए हैं।वर्ल्डहॉकीलीगफाइनल्सभारतनेजर्मनीकोहराकरजीताब्रॉन्जमेडलSSC Scam: सीबीआई ने किया WBSSC के दो अधिकारियों को गिरफ्तार, माने जाते हैं पार्थ चटर्जी के करीबी******Highlightsबंगाल के शिक्षक भर्ती घोटाला मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने दो और गिरफ्तारियां की हैं। सीबीआई ने बुधवार दोपहर को पश्चिम बंगाल स्कूल सेवा आयोग (WBSSC) के दो प्रमुख पूर्व अधिकारियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए दो लोगों में डब्ल्यूबीएसएससी की विशेष स्क्रीनिंग कमेटी के पूर्व संयोजक शांति प्रसाद सिन्हा हैं, जिसे करोड़ों रुपये के घोटाले का केंद्र माना जाता है। इसके अलावा डब्ल्यूबीएसएससी के पूर्व सचिव अशोक साहा को गिरफ्तार किया गया है। मामले में जांच शुरू करने से पहले सीबीआई द्वारा दर्ज प्राथमिकी में दोनों का नाम लिया गया था।डब्ल्यूबीएसएससी घोटाले में सीबीआई की ये पहली गिरफ्तारी है। इससे पहले, घोटाले के संबंध में मनी-ट्रेल एंगल पर जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के अधिकारियों ने इस सिलसिले में पश्चिम बंगाल के पूर्व शिक्षा मंत्री और तृणमूल कांग्रेस के महासचिव और उनकी करीबी अर्पिता मुखर्जी को गिरफ्तार किया था। पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी दोनों फिलहाल न्यायिक हिरासत में हैं।सीबीआई सूत्रों ने कहा कि सिन्हा और साहा तथ्यों को दबाने और जांचकर्ताओं को गुमराह करने के लिए जानबूझकर प्रयास कर रहे हैं। सीबीआई के एक अधिकारी ने कहा, "दोनों को गुरुवार को एक अदालत में पेश किया जाएगा और हम आगे की जांच के लिए उनकी हिरासत की मांग करेंगे। पूरे घोटाले के तौर-तरीकों पर स्पष्ट विचार रखने के लिए हमें उनसे और पूछताछ करने की आवश्यकता है और विशेष रूप से विशेष स्क्रीनिंग समिति घोटाले में उपरिकेंद्र कैसे बनी, यह जानना जरूरी है।"जज रंजीत कुमार (सेवानिवृत्त) के नेतृत्व में कलकत्ता उच्च न्यायालय द्वारा गठित न्यायिक समिति डब्ल्यूबीएसएससी विशेष स्क्रीनिंग समिति और सिन्हा को भर्ती अनियमितताओं की प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के लिए जिम्मेदार ठहराने वाली पहली संस्था थी। इस कमेटी ने यह भी पाया कि स्क्रीनिंग कमेटी के सदस्य मेरिट लिस्ट के गलत इस्तेमाल के लिए जिम्मेदार थे। वास्तव में, न्यायिक समिति की रिपोर्ट वह महत्वपूर्ण कारक रही, जिसने कलकत्ता उच्च न्यायालय के जज अभिजीत गंगोपाध्याय की एकल-न्यायाधीश पीठ को मामले में सीबीआई द्वारा जांच का आदेश देने के लिए प्रेरित किया।घटनाक्रम का स्वागत करते हुए, पश्चिम बंगाल विधानसभा में विपक्ष के नेता, सुवेंदु अधिकारी ने कहा कि जो कुछ भी बरामद हुआ है वह घोटाले के पैसे का एक छोटा प्रतिशत है। उन्होंने कहा, "जैसे-जैसे दिन बीतेंगे, सत्ताधारी दल के अधिक दिग्गज और अपराध में उनके सहयोगियों को केंद्रीय एजेंसी के अधिकारियों द्वारा हिरासत में लिया जाएगा और अधिक धन की वसूली की जाएगी।"

नवीनतम उत्तर (2)
2022-09-29 23:41
उद्धरण 1 इमारत
Budget 2022: क्रिप्टोकरेंसी को लेकर क्या है सरकार का प्लान?, Cryptocurrency पर इसलिए लगाया 30% टैक्स******CryptocurrencyHighlightsवित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने मंगलवार को कहा कि क्रिप्टो करेंसी पर विचार-विमर्श जारी है और उसके बाद हम इस पर कायदे-कानून बनाने पर विचार करेंगे। बजट के बाद संवाददाताओं से बातचीत में सीतारमण ने कहा, ‘‘क्रिप्टो करेंसी पर हाल में विचार-विमर्श शुरू किया गया है। इसमें जो निष्कर्ष आता है, उसके आधार पर हम कानून लाने या अन्य किसी प्रस्ताव पर गौर करेंगे।’’क्रिप्टोकरेंसी को लेकर मीडिया से बात करते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि क्रिप्टोकरेंसी से जो आमदनी होती है, हमने उसपर 30 फीसदी का टैक्स लगाया है क्योंकि वो एक तरह की सम्पत्ति (Asset) है। जो डिजिटल करेंसी की बात है, वो आरबीआई जारी करेगी। सीतारमण ने कहा, हम हर ट्रांजैक्शन पर 1% टीडीएस लगाकर उसमें (क्रिप्टो करेंसी) पैसे के हर लेन-देन पर भी नज़र रख रहे हैं। अभी के लिए क्रिप्टो और क्रिप्टो संपत्ति क्या हैं, इस पर कोई चर्चा नहीं हुई। ने बजट भाषण में कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) वर्ष2022-23 में ब्लॉकचेन प्रौद्योगिकी आधारित डिजिटल रुपया (Digital Rupee) पेश करेगा। उन्होंने और अन्य निजी डिजिटल संपत्तियों पर कराधान को स्पष्ट किया। उन्होंने ऐसी संपत्तियों में लेन-देन पर होने वाले लाभ को लेकर 30 प्रतिशत कर लगाने का प्रस्ताव किया। सीतारमण ने स्पष्ट किया, ‘‘यह कराधान क्रिप्टो करेंसी से जुड़ी गतिविधियों पर लगाया गया है। इसका यह मतलब नहीं है कि इसे कानूनी जामा पहनाया जा रहा है। मुद्रा हर कोई जारी नहीं कर सकता।’’ में रोजगार सृजन से जुड़े सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘हम लोगों को हुनरमंद बनाकर उनकी क्षमता बढ़ा रहे हैं। ईसीएलजीएस (आपात ऋण सुविधा गारंटी योजना) के तहत गारंटी दायरे को 50,000 करोड़ बढ़ाकर पांच लाख करोड़ रुपये किया जाएगा। साथ ही इसकी समयसीमा बढ़ाकर मार्च, 2023 तक की गई है। अतिरिक्त सहायता विशिष्ट रूप से आतिथ्य और संबंधित उपक्रमों के लिए है। इससे रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।’’ उन्होंने कहा कि बजट में रक्षा खरीद व्यय का 68 प्रतिशत हिस्सा स्थानीय उद्योगों से खरीद के लिए रखा गया है। साथ ही खाद्य प्रसंस्करण पर जोर दिया जा रहा है। इन सबसे रोजगार के अच्छे अवसर सृजित होंगे।बजट में आम आदमी की राहत से जुड़े सवाल के जवाब में सीतारमण ने कहा, ‘‘सिर्फ कर की दर कम करना ही लाभ नहीं होता। हमने सस्ते मकानों के लिये सस्ते कर्ज का प्रावधान किया। किसानों के लिये किये गये उपाय, स्टार्टअप के लिये प्रावधान, ईसीएलजीएस की समयसीमा बढ़ाने से आम लोगों को भी लाभ होगा।’’ सरकार की उधारी बढ़ने से निजी क्षेत्र के लिये बाजार में कम पैसा बचने से जुड़े सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बाजार में नकदी की कमी नहीं है और निजी क्षेत्र को उनकी जरूरत के अनुसार कर्ज के लिये पर्याप्त पैसा है।सीतारमण ने यह भी कहा कि बजट में जो भी बातें हैं, वह वास्तविक धरातल पर है। जो भी अनुमान जताये गये हैं, वे वास्तविक हैं। कच्चे माल की ऊंची कीमत के सवाल पर उन्होंने कहा कि कच्चे माल की कीमत में वृद्धि से सभी विनिर्माण उद्योगों पर असर नहीं पड़ा है, यह केवल धातु उद्योग कुछ हद तक प्रभावित कर रहा है।
2022-09-29 22:44
उद्धरण 2 इमारत
दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने ऑपरेशन मिलाप के जरिए 333 नाबालिग बच्चों को उनके माता-पिता से मिलवाया****** की क्राइम ब्रांच ने ऑपरेशन मिलाप के ज़रिए 333 नाबालिग बच्चों को उनके माता-पिता से मिलवाया है। ये वो नाबालिग बच्चे है जिन्हें या तोबहला-फुसला कर या नौकरी का झांसा देकर देश के अलग-अलग राज्यों से दिल्ली लाया जाता है। ह्यूमन ट्रैफिकिंग का शिकार हुए ये बच्चे दिल्ली में रेलवे स्टेशन, बस अड्डों औरसड़क किनारे भीख मांगने का काम करते थे। दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने ऑपरेशन मिलाप के ज़रिए इन बच्चों को उनके माता-पिता से मिलवा रही है। 1 जनवरी से 7 जुलाईतक दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच 333 नाबालिक बच्चों को उनके परिवार से मिलवाने का काम कर चुकी है। इनमें से ज्यादा तर बच्चे वेस्टर्न यूपी, बिहार, ओडिसा से है।इस मामले में एडिशनल सीपी, क्राइम ब्रांच राजीव रंजन ने बताया कि दिल्ली के भी 57 बच्चों को उनके परिवारों से मिलवाया है। दिल्ली क्राइम ब्रांच के मुताबिक 57 बच्चों में से 14 नाबालिग है और 37 महिलाए है जिन्हें नौकरी का झांसा देकर परिवार से अलग किया गया था। इंडिया टीवी भी एक ऐसे ही परिवार से मिला जिसकी 16 साल की बच्ची पिछले 6महीने से गयाब थी लेकिन आज 6 महीने बाद इस पिता को उसकी बेटी मिल गई।साल 2019 में अभी तक 2324 बच्चों की मिसिंग की शिकायत दर्ज की गयी है। जिसमें से 1241 बच्चे ट्रेस किये जा चुके है। वही साल 2018 में 6541 बच्चों की शिकायतें मिलीथी। जिसमे से 6146 बच्चे ट्रेस किये जा चुके है। बच्चों की गुमशुदगी का ये आंकड़ा जितना डरावना है उतना ही हैरान भी कर रहा है की कैसे हज़ारों की संख्या में बच्चे अपने परिवारसे अलग-अलग वजहों के चलते अलग हो जाते है। लेकिन हैरानी की बात ये भी है की सबसे ज्यादा गुमशुदगी के मामले 12 से 18 साल तक के बच्चों के सामने आते है। आकड़ों केमुताबिक 2018 में 12 से 18 साल के बच्चों की गुमशुदगी की 3653 शिकायत दर्ज की गयी। जबकि 2019 में अभी तक 1363 शिकायत दर्ज की जा चुकी है।बच्चों के बढ़ते मिसिंग के मामलों को देखते हुए दिल्ली क्राइम ब्रांच, दिल्ली पुलिस की वेबसाइट के ज़रिए भी बच्चों को उनके परिवार से मिलवा रही है। दिल्ली पुलिस अलग अलगजगहों से बच्चों को बरामद करके बच्चों की फ़ोटो से जुड़ी जानकारी वेब साइट पर डालती है जिससे परिवार के लोग बच्चों तक पहुच सके। बहराल दिल्ली क्राइम ब्रांच की ये कोशिशउस परिवार के चेहरे पर मुस्कान ले आती है जो उम्मीद खो चुके परिवार को उनके बच्चों से मिलवा देती है। लेकिन रोजाना बच्चों का गयाब होना खास तौर पर दिल्ली में मिसिंगबच्चों ये आंकड़े माता पिता के लिए एक चेतावनी है साथ ही साथ दिल्ली पुलिस के लिए भी एक आईना है ताकि ह्यूमन ट्रैफिकिंग पर रोक लगाई जा सके।
2022-09-29 22:22
उद्धरण 3 इमारत
Cyclone Asani: दिखने लगा 'चक्रवात अशनि' का असर, समुद्र में उठ रहीं ऊंची लहरें, कई जगह तेज़ हवाओं के साथ बारिश****** चक्रवात 'अशनि' का असर दिखने लगा है। आंध्र प्रदेश के काकीनाडा के कुछ हिस्सों में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई है। वहीं समुद्र में ऊंची लहरें उठ रही हैं। अशनिसे प्रभावित क्षेत्रों में बचाव और राहत के लिए NDRF ने कुल 50 टीमों को तैनात किया है। 50 टीमों में से 22 को पश्चिम बंगाल, ओडिशा और आंध्र प्रदेश में तैनात किया गया है। जबकि शेष 28 को इन राज्यों में अलर्ट पर रहने का निर्देश दिया गया है।भारती मौसम विज्ञान विभाग के मुताबिक सोमवार को चक्रवात 25 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा था। वहीं पिछले 6 घंटों के दौरान पांच किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पश्चिम-उत्तरपश्चिम की ओर बढ़ा और सुबह 5:30 बजे काकीनाडा से 300 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में, विशाखापत्तनम (आंध्र प्रदेश) से 330 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पूर्व में, गोपालपुर (ओडिशा) से 510 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में और पुरी (ओडिशा) से 590 किलोमीटर दक्षिण-दक्षिण पश्चिम में केंद्रित था। 12 मई की सुबह चक्रवात कमजोर हो जाएगा।केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने मंगलवार को बेहद तीव्र चक्रवात ‘असानी’ से निपटने की तैयारियों का जायजा लिया। चक्रवात के कारण ओडिशा और पश्चिम बंगाल में सोमवार को भारी से मध्यम बारिश हुई। मंगलवार को ओडिशा में ठंडी हवाएं चली और समुद्र में ऊंची-ऊंची लहरें उठीं। तटीय क्षेत्रों और समुद्री तटों में पर्यटन संबंधी गतिविधियों को 13 मई तक निलंबित रखने का सुझाव दिया गया है, वहीं मुछवारों को अगले कुछ दिनों तक क्षेत्र से दूर रहने को कहा गया है।चक्रवाती तुफान का असर दिल्ली में भी देखने को मिला है। दिल्ली में अधिकतम तापमान मंगलवार को 40 डिग्री से नीचे चला गया। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली में अगले दो दिनों तक 'लू' चलने की कोई संभावना नहीं है। इस तुफान का असर बिहार, झारखंड, छत्तीसगढ़ में भी रहेगा।
वापसी